हमारे आपके आस पास की बाते जो कभी गुदगुदाती तो कभी रूलाती हैं और कभी दिल करता है दे दनादन...

Saturday, March 13, 2010

सरकार



सरकार
रमुआ के यहां से थाली बजने
की आवाज आई,
पुर्व निर्धारित पांचवी संतान के
आने का संकेत,
टुटी सायकल पर फटी बण्‍डी पहने
मट्रटी तेल बेचने वाला रमुआ
खुशी से मदमस्‍त हो रहा हैं
स्‍वास्‍थ, शिक्षा,रोजगार के लिऐ नही
सिर्फ पौव्‍वा के लिऐ वोट देता हैं,
रमुआ, देश की सरकार को,
अधेड कुपोषण का शिकार, रामकली
रमुआ की पत्‍नी अथवा रमुआ की सरकार
जो दे चुकी हैं चार साल में पांचवी संतान
अर्थात बुढापे का पांचवा सहारा
इसलिऐ खुशी से मदमस्‍त हो रहा हैं..........

सतीश कुमार चौहान, भिलाई
098271 13539

1 comment:

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari said...

व्‍यवस्‍था पर करारा तमाचा. धन्‍यवाद सतीश भाई.